Currency Trading क्या होता है !

जब आप किसी देश की मुद्रा ( पैसा ) को स्टॉक की तरह खरीदी बिक्री करते है तो इसको Currency Trading कहते है ! आप इसमें Future & Option के मदद से इसमें Trading करते है !

Currency Trading क्यों जरुरी है

भारत में पहले हमारे देश के रूपए का निर्धारण Dollar की तुलना में क्या होगा इसका निर्धारण RBI और सरकार मिल कर करती थी, लेकिन अभी यह Market से तय होता है, इसकी किमत क्या होगा यह Demand और Supply के आधार पर तय होता है, जिस तरह से किसी कंपनी का शेयर आईपीओ में लिस्ट हो जाने के बाद Market तय करती है उसी प्रकार हमारे देश के रूपए की किमत क्या होगा यह भी Market में तय होता है!
भारत में बहुत सारी कंपनी है जो भारत के अलावा दूसरे देशो में भी काम करती है, इसके अलावा भारत यहां से बहुत सारा समान दूसरे देशो में बेचता है और दूसरे देशो से बहुत सा समान आयात करता है, जो की सारा व्यपार रूपए और डॉलर में होता है, अगर कोई कंपनी जो की दूसरे देशो में काम करती है या दूसरे देशो को माल बेचती है उसके ऊपर Currency का बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है, अगर रूपए के किमत कम या अधिक होती है तो कंपनी को Risk रहता है, इसी रिस्क को कम करने के लिए Currency Trading जरुरी है! कंपनी मुख्य रूप से इसका उपयोग Hedging करने के लिए करती है !

Currency Trading,
Currency Trading
भारत मे आप MCX में Currency Trading कर सकते है! इसकी सबसे बड़ी फायदा यह है कि इसमें आपको सबसे अधिक Leverage मिलता है !

Curremcy Trading के नुकशान

किसी भी देश के Economy Stability के लिए और देश में व्यपार आसानी हो इसके लिए उस देश की मुद्रा का स्थिर होना जरुरी है, इसके लिए उस देश की रिजर्व बैंक इसको कण्ट्रोल करती है, इस कारण से एक आम आदमी के लिए इन सब को जान और समझ कर ट्रेडिंग करना आसान नहीं होता !
इसके आलवा कोई ट्रेडर पैसे तभी कमाता है, जब उतार चढ़ाव हो लेकिन Currency में ऐसा बहुत कम होता है!

Leave a Comment